मैट्रो में सुरक्षा हेतु गृहमंत्री ने मौलिक भारत को दिया जनभागीदारी का आश्वासन

दिल्ली एवं एनसीआर के मैट्रो स्टेशनों के मुख्य गेट से सुरक्षा जांच की चौकी के बीच सुरक्षा के इंतजाम न होने से अपराध और आतंकवाद के खतरे को रोकने के लिए केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जनभागीदारी बढ़ाने के राष्ट्रीय अभियान पर जोर दिया। मौलिक भारत के तत्वाधान में पूर्व सुरक्षा अधिकारियों, शिक्षाविद्, पत्रकार, युवा एवं विद्यार्थियों ने शनिवार को गृहमंत्री को विस्तृत प्रतिवेदन दिया जिसके अनुसार राजधानी दिल्ली एवं मैट्रो के नेटवर्क में सुरक्षा व्यवस्था में कमी से आतंकी वारदात होने की संभावना हो सकती है। मौलिक भारत के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कै. विकास गुप्ता (,पूर्व सुरक्षा बिशेषज्ञ और बम डिस्पोजल स्क्याड के अधिकारी जिन्होंने कोयम्बतूर बम विस्फोट , आई टी ओ ब्लास्ट, जखीरा ब्लास्ट आदि की सफलतापूर्वक जाँच की) ने गृह मंत्रालय की 189 की रिपोर्ट एवं पेरिस हमले का जिक्र करते हुए मामले की गंभीरता से माननीय मंत्रीजी को अवगत कराया. संस्था के अनुसार हवाई अड्डों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था है परन्तु मैट्रो स्टेशनों के कामन एरिया में कोई सुरक्षा नहीं है जिससे करोड़ों जनता यात्रा करती है।

मौलिक भारत के राष्ट्रीय अध्यक्ष गजेन्द्र सोलंकी एवं महासचिव अनुज अग्रवाल ने बताया की पिछले कुछ महीनो में ही मेट्रो स्टेशनों के बाहर सैकड़ों लूट, चोरी और छेडछाड़ की घटनाये हो चुकी हैं। इस मामले पर संस्था की और से सर्वेक्षण कर रही सदस्य श्रुति गुप्ता ने महिलाओ को स्टेशनों के बाहर होने वाली परेशानियों से अवगत करते हुए बताया कि सुरक्षा न होने से मेट्रो के सार्वजनिक इलाके में भिखारी, पार्किंग माफिया, अवैध दुकानदारों, नशेडि़यों और आवारा लोगों ने अपना अड्डा बना लिया है जो यात्रियों की सुरक्षा और मैट्रो जैसी आधुनिक यातायात व्यवस्था की गरिमा के विरुद्ध है।

मौलिक भारत के उपाध्यक्ष अमरनाथ ओझा, दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष जितेन्द्र तिवारी, सदस्य मंतोष सक्सेना, पुनीत गोस्वामी आदि ने सुझाव दिया कि दिल्ली पुलिस की अतिरिक्त बटालियन इन स्टेशनों पर लगाई जाये या स्काउट्स अथवा स्वयंसेवकों की सहायता से सुरक्षा प्रबंध चाक चोबंद किये जाये.

गृहमंत्री ने इस दौरान बताया कि पूरे देश में सार्वजानिक स्थलों की सुरक्षा व्यवस्था को जनभागीदारी से मजबूत करने का प्रयास किया जा रहा है और केरल में 7000 से अधिक स्वयंसेवको की पहली टुकड़ी तैयार भी हो चुकी है। मौलिक भारत के पदाधिकारियों ने सरकार को इस विषय पर पूर्ण सहयोग का आश्वासन भी दिया जिसके लिए एन.सी.आर. में बहुत शीघ्र जनजागरण अभियान भी प्रारम्भ किया जायेगा।

HOME MINISTER ASSURES MAULIK BHARAT FOR PUBLIC PARTICIPATION IN SECURITY AT METRO STATIONS

The Home Minister has emphasized upon the need to incorporate public participation with respect to security at Metro Stations in Delhi-NCR, as no credible security mechanism is present between the Main Gate and the Security Checkpoints at the Metro Stations. Maulik Bharat, working with former security officials, academicians, journalists, and students had made a representation to the Home Minister, highlighting the dangers being faced by the Delhi Metro due to the lack of security mechanisms.

National Vice President of Maulik Bharat Captain Vikas Gupta (Retd. Security Official, Member of the Bomb Disposal Squad that successfully investigated blasts at Coimbatore, ITO and Zakhira) made the Home Minster aware about the 189 Report of the Home Ministry along with highlighting increased danger after the Paris attacks. As per Maulik Bharat, while the airports are adequately protected, there is no adequate protection for persons who are using the Metro.

National President of Maulik Bharat, Mr. Gajendra Solanki and General Secretary Mr. Anuj Agrawal submitted that hundreds of incidents, ranging from theft, loot and eve teasing have taken place outside the Metro stations. Being a researcher on this issue, Ms. Shruti Gupta informed the Home Minister that in absence of any security mechanism, beggars, parking mafia, illegal shopkeepers, drug addicts and miscreants have been making use of the public space near the metro stations, which is not only dangerous to the passengers but is also against national pride.

Vice President of Maulik Bharat Mr. Amarnath Ojha, along with Delhi State President Mr. Jitendra Tiwari and members Mr. Mantosh Saxena and Mr. Punit Goswami suggested that additional battalions of Delhi Police should be stationed at the metro stations and services of Scouts and Guides and other volunteers can be used to tighten the security around Delhi Metro.

The Home Minister also said that this requires immense public participation, for which work is already in progress and a volunteer force of 7000 persons has already been trained and set up in Kerala. Maulik Bharat assured its full support and commitment to the Government in this regard, and accordingly a public awareness campaign will be shortly started.


Trustees of Maulik Bharat
  • Rajesh Goyal
  • Vikas Gupta
  • Anuj Agarwal
  • Pawan Sinha
  • Ishwar Dayal
  • Dr. Amarnath
  • Dr Sunil Maggu
  • Gajender
  • Susajjit Kumar
  • Sh.Rakesh
  • Col. Devender
  • Smt. Usha
  • Umesh Gour
  • Anant Trivedi
  • Neeraj Saxena
  • Sudesh
  • Prashant
  • Pradeep
  • Ranveer
  • Kamal Tawari

More Member


Videos