सार्वभौमीकरणमौलिक भारत के दृारा एक प्रतिनिधिमंडल गौतम बुध नगर के जिलाधिकारी को DND पुल के निर्माण व संचालन मे हो रहे घोटाले को लेकर ज्ञापन

आदरणीय बंधुवर,

आज मौलिक भारत एक प्रतिनिधिमंडल सूरजपुर स्थित कलेक्ट्रेट में गौतम बुध नगर के जिलाधिकारी को उ० प्र० को दिल्ली से जोड़ने वाले DND पुल के निर्माण व संचालन मे हो रहे घोटाले को लेकर एक ज्ञापन सोपा इस अवसर पर मौलिक भारत के राष्ट्रीय महा सचिब श्री अनुज अग्रवाल ने बताया कि मौलिक भारत ने ही नॉएडा व लखनऊ मे प्रेस कांफ्रेस करके इस घोटाले मे सम्मिलित आई0 ए0 एस0 अधिकारियो के नामो को उजागर किया है. हमारी इस मुहिम के फलस्वरूप ही स्वयसेवी संगठन , राजनैतिक दल DND घोटाले के खिलाफ संघर्ष मे उतर आये है !

जिलाधिकारी को अवगत कराते हुए पर्तिनिधि मंडल ने कहा कि विगत 15 जुलाई 2015 को संस्था के पदाधिकारी कॅप्टन विकास गुप्ता भारतीय किसान यूनियन के प्रतिनिधि मंडल के साथ उ०प्र० के मुख्य सचिव श्री अलोक रंजन की उपस्थिति मे DND टोल कंपनी के अधिकारियो व नॉएडा अथॉरिटी के चेयरमैन श्री रमारमन से प्रदेश सचिवालय लखनऊ में वार्ता की थी उपरोक्त वार्ता मे कुछ विवादित बिंदु जैसे 20% क्लाज, किसानो व सैनिको को रियायते देने पर सहमती बनी थी तथा अन्य बिन्दुओ पर सहमति के लिए नॉएडा अथॉरिटी के चेयरमैन को नॉएडा मे बैठक करने के लिए मुख्य सचिव द्वारा आदेश दिया गया था !

इस अवसर पर मौलिक भारत के कप्तान विकास गुप्ता ने कहा कि कई माह वीत जाने के बाद भी न तो सहमति के बिन्दुओ को लागू किया है और न ही बैठक हुई है इससे यह रवैया यह दर्शाता है कि न तो DND टोल कंपनी और न ही नॉएडा अथॉरिटी व प्रदेश सरकार इस प्रकरण को लेकर गभीर है ! जिलाधिकारी श्री नागेन्द्र प्रताप सिंह ने पतिनिधिमंडल की बाते ध्यान से सुनी और आश्वासन दिया कि इस आशय पर एक पत्र वो नॉएडा अथारिटी के चेयर मन रमण को लिखेंगे और उसकी प्रतिलिपि प्रदेश के मुख्यसचिव को भी भेजेंगे !

मौलिक भारत ने जिलाधिकारी को यह भी बताया कि DND टोल प्रकरण पर कोई कार्यवाही नहीं हुए तो अति शीघ्र ही एक बड़ा जनांदोलन छेड़ेगी ! प्रतिनिधि मंडल में कप्तान विकास गुप्ता , अनुज अग्रवाल,नीरज सक्सेना ,पिंकी चौधरी , नवाब सिंह ,कप्तान रोहित कपूर,अवनीश सिंह , कौशल सिरोही ,पुनीत गोस्वामी,जीतेन्द्र तिवारी आदि शामिल थे .

प्रतिष्ठा में ,
जिलाधिकारी, गौतमबुद्ध नगर,
कलेक्ट्रेट, ग्रेटर नोएडा।

बिषय - सरकार के अनेकों आश्वासनों के बाद भी डी एन डी टोल ब्रिज के टोल मुक्त नहीं होने के कारण चल रही लूट की पुनः शिकायत और आंदोलन करने के संदर्भ में

मान्यवर,

हमारा संगठन विगत तीन वर्षो से समाज मे फैली बुराई जैसे भ्रष्टाचार, नशाखोरी, आतंकवाद, आर्थिक अपराध, चुनाव सुधार अदि के खिलाफ मुहिम चला रहा है। इसी कड़ी मे उ. प्र. को दिल्ली से जोड़ने वाले डीएनडी पुल के निर्माण व संचालन मे हो रहे घोटाले को भी हमारे संगठन ने ही उठाया है। मौलिक भारत ने ही बारी बारी से नॉएडा व लखनऊ मे प्रेस कांफ्रेस करके इस घोटाले की परत दर परत उघेड़ते हुए पूरे घोटाले के सभी पहलुओं को सबूतों सहित और इसमे लिप्त आई0 ए0 एस0 अधिकारियो के सिंडीकेट के नामो को उजागर किया था। हमारी इस मुहिम के फलस्वरूप ही मीडिया, अनेक स्वयसेवी संगठन एवं राजनीतिक दल डीएनडी टोल ब्रिज घोटाले के खिलाफ संघर्ष मे उतर आये हें।

विगत 15 जुलाई 2015 को हमारी संस्था के पदाधिकारी कैप्टन विकास गुप्ता ने भारतीय किसान यूनियन के प्रतिनिधि मंडल के साथ उ०प्र० के मुख्य सचिव श्री अलोक रंजन की उपस्थिति मे डीएनडी टोल कंपनी के अधिकारियो व नोएडा अथॉरिटी के चेयरमैन श्री रमारमन से प्रदेश सचिवालय लखनऊ में वार्ता की थी। उपरोक्त वार्ता मे कुछ विवादित बिंदु जैसे 20 प्रतिशत क्लाज, किसानों व सैनिकों को रियायते देने पर सहमति बनी थी तथा अन्य बिन्दुओं पर सहमति के लिए नोएडा अथॉरिटी के चेयरमैन को नॉएडा मे सभी सम्बंधित पक्षों और सामाजिक संगठनो के साथ बैठक करने के लिए मुख्य सचिव द्वारा आदेश दिया गया था। साथ ही यह आश्वासन भी दिया गया था कि टोल ब्रिज के आबंटन से सम्बंधित समझोते की समीक्षा की जायेगी और कुछ भी गलत पाया गया तो दोषियों के खिलाफ उचित कानूनी कार्यवाही की जायेगी।

महोदय, उल्लेखनीय है कि प्रदेश सरकार द्वारा अनेक आश्वासनों के बाद, जिला प्रशासन और नोयडा प्राधिकरण द्वारा अलग अलग आरोपों पर अनेक जाँच की गयी किंतु न तो उनकी रिपोर्ट सार्वजानिक की गयी और न ही उनके आधार पर कोई कार्यवाही ही नहीं की गयी।

महोदय, आपको ज्ञात ही होगा कि इस मुद्दे पर उत्तर प्रदेश और दिल्ली के उच्च न्यायालय में कम से कम चार जनहित मुकदमे विभिन्न संस्थाओ द्वारा दायर कराये गए हैं जिनमें इस पुल पर टोल वसूलने वाली कंपनी पर अवैध वसूली के आरोप लगाते हुए टोल वसूलने पर रोक लगाने की मांग की गयी है। जनता के द्वारा चुनी गयी सरकार द्वारा इस खुली लूट पर चुप्पी साधना और कोई कार्यवाही नही करना एक बड़ी मिलीभगत की और इशारा कर रहा है।

महोदय, कई माह बीत जाने के बाद भी न तो उपरोक्त बैटक मे हुयी सहमति के बिन्दुओ को लागू किया है और न ही बैठक आयोजित की गयी है यह रवैया यह दर्शाता है कि न तो डीएनडी टोल कंपनी और न ही नॉएडा अथॉरिटी व प्रदेश सरकार इस लूट और घोटाले को लेकर गंभीर है।

दिल्ली और उत्तर प्रदेश की जनता अब इस खुली लूट और शासन- प्रशासन के गैर- जिम्मेदार रवैये के कारण आक्रोशित है। दोनों प्रदेशो की जनता की और से हमारी मांग है कि एक सप्ताह के अंदर सरकार इस पुल से टोल वसूली वापस ले और इस घोटाले की समयबद्ध जाँच कराने का आदेश दे, अन्यथा हमारी संस्था एक बड़ा लोकतांत्रिक जनांदोलन छेड़ कर डी एन डी टोल ब्रिज को टोल मुक्त कराएगी।

धन्यवाद।
भवदीय

महंत सुरेन्द्रनाथ अवधूत मुख्य महंत कालकाजी पीठ, दिल्ली
गजेन्द्र सोलंकी, राष्ट्रीय अध्यक्ष, मौलिक भारत
के. विकास गुप्ता राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, मौलिक भारत
कर्नल देवेन्द्र सेहरावत विधायक बिजवासन, दिल्ली
अनुज अग्रवाल राष्ट्रीय महासचिव, मौलिक भारत
नीरज सक्सेना सह-संगठन मंत्री मौलिक भारत
अवनीश सिंह अध्यक्ष उ.प्र., मौलिक भारत
पिंकी चैधरी महासचिव उ.प्र., मौलिक भारत
संजीव गुप्ता संयोजक आर.टी.आई सैल,मौलिक भारत
जितेंद्र तिवारी अध्यक्ष दिल्ली, मौलिक भारत
पुनीत गोस्वामी सदस्य, प्रांतीय कार्यकारिणी, उ.प्र., मौलिक भारत

प्रति प्रेषित:
1. मुख्यमंत्री, उ.प्र. सरकार
2. मुख्य सचिव, उ.प्र. शासन


Trustees of Maulik Bharat
  • Rajesh Goyal
  • Vikas Gupta
  • Anuj Agarwal
  • Pawan Sinha
  • Ishwar Dayal
  • Dr. Amarnath
  • Dr Sunil Maggu
  • Gajender
  • Susajjit Kumar
  • Sh.Rakesh
  • Col. Devender
  • Smt. Usha
  • Umesh Gour
  • Anant Trivedi
  • Neeraj Saxena
  • Sudesh
  • Prashant
  • Pradeep
  • Ranveer
  • Kamal Tawari

More Member


Videos